Asia21.tv (एशिया21.टीवी) का लोगो
Asia21.tv (एशिया21.टीवी) न्यूज़लेटर के ग्राहक बनें




 
Favoris et Partage

पैरिस में 1850 की दशक में 150 ऐसे वीथिकाएं थी, अब उनमें से केवल 20 रह गई हैं। पैरिस के निवासी अब इन प्रसिद्ध आच्छादित मार्गों को कभी गलती से, कभी जरूरत पड़ने पर या जब उन्हें कोई छोटा रास्ता खोजना होता है तब इस्तेमाल करते हैं पर ज्यादातर मज़े के लिए इनका प्रयोग करते हैं। इनमें से ज्यादातर वीथिकाएं, ग्रॉ बुलवार के पास सीन नदी के दाहिने तट पर हैं। आज के शॉपिंग आर्केड के पूर्वज, इन्हें XVIIIवी. सदी में राजधानी के बुर्ज्वाझी शॉपिंग केन्द्र को सुविधा देने के लिए बनाया गया था। इनका प्रयोग फ़ियाकर्स या किराये की बग्घियों के इंतज़ार करने के लिए किया जाता था जिसकी वजह से यहाँ पर कई घड़ियाँ लगी हैं। यदि आपको पुरानी चीज़ें, पुराने ढंग की चाय की दुकाने पसंद हैं या आप शौक के तौर पर चीज़ों को इकट्ठा करना पसंद करते हैं तो पैरिस की यह वीथिकाएं आपके लिए बनी हैं। यहाँ पर आपको शुद्धतावादी मिलेंगें, क्योंकि यह वो लोग हैं जो इन वीथिकाओं में अपनी दुकाने खोले हुए हैं क्योंकि उन्हें अपने काम से प्यार है और यह बात सबसे कट्टर सौन्दर्योपासक को भी प्रसन्न करेगी। विरोधाभास यह है कि हालांकि पैरिस की यह वीथिकाएं एक और युग की हैं, यह तब भी “आज के ज़माने” की लगती हैं क्योंकि फैशन रचनाकार आमतौर पर अपने पहले शोरूम इन्हीं वीथिकाओं में खोलते हैं। यह वीथिकाएं मनोहर या फिर आलीशान भी हो सकती हैं... ये भूले हुए युग की प्रतिबिंब हैं और इन वीथिकाओं में आपको हमेशा पुराने ज़माने की खुशबू आती रहेगी। सबसे सजीली वीथिकाओं में, स्पष्टरूप से गैलरी विवएन हैं जिसके तीन प्रवेशद्वार हैं, एक रिउ विविएन पर, एक रिउ डे पेटिट साम्प पर और तीसरा रिउ द ला बांक पर। 1986 में जॉन पॉल गोतियेर के आने से यह वीथिका पैरिस की फ़ैशन हॉटस्पॉट के रूप में स्थापित हो गई है। पर एक महान महिला की तरह, गैलरी विविएन आज भी बहुत सजीली और शांत है। उसके बहुत पास कोलबेर वीथिका है जो गैलरी विविएन की प्रतिस्पर्धी है। यह उतनी व्यापार-उन्मुख तो नहीं है पर बहुत ही भव्य है जिसे बिब्लियोथिक नेशनाले द फ्रांस ने खरीद लिया है और इसमें कई संस्कृति और कला संबंधी प्रतिष्ठान हैं। वीथिका के अंत में आपको गॉ कोलबेर दिखेगा जो पैरिस की एक ठेठ बार है जहाँ पर भोजन जरूर करना चाहिए। तिरछी काली और सफेद टाइलों वाली वेहो-दूता वीथिका गहराई की गलतफहमी देती है और इसे देखने जरूर जाना चाहिए। इसका एक प्रवेश-द्वार 19, रिउ जौं-जाक रूसो पर स्थित है। 1997 में पूरी तरह से इसका पुनः निर्माण किया गया और यह पैरिस के पासार्ज़ कूवैर में सबसे दिलकश है। अंत में सबसे पुरानी वीथिका पेनोरामा है जो ग्रॉ बुलुवार और गॉंश बातेलियेर को जोड़ती है। इसे प्राकृतिक प्रकाश का फायदा है क्योंकि इसकी काँच की बनी छत से धूप अंदर आती है और डाक टिकट संग्रहकर्ताओं का पसंदीदा स्थान है। अन्य वीथिकाएं जैसे कि वेर्दो, ग्रॉ सेर्, ल मोलेर, ल वॉन्दोम आदि का अपना व्यक्तित्व, अपनी मनोहरता और अपने ग्राहक हैं। पैरिस की यह वीथिकाएं, यह इमारतों के बीच छोटी गलियाँ, स्पष्ट रूप से आज भी अपनी रहस्यमयी मनोहरता बरकरार रखे हैं .... हालांकि कोई नहीं कह सकता कि यह कहाँ से शुरू होती हैं और कहाँ पर अंत होती हैं.... इसका पता तो आपको खुद करना होगा!

विडिओ की सामग्री: पैरिस में 1850 की दशक में 150 ऐसे वीथिकाएं थी, अब उनमें से केवल 20 रह गई हैं। पैरिस के निवासी अब इन प्रसिद्ध आच्छादित मार्गों को कभी गलती से, कभी जरूरत पड़ने पर या जब उन्हें कोई छोटा रास्ता खोजना होता है तब इस्तेमाल करते हैं पर ज्यादातर मज़े के लिए इनका प्रयोग करते हैं।
इनमें से ज्यादातर वीथिकाएं, ग्रॉ बुलवार के पास सीन नदी के दाहिने तट पर हैं। आज के शॉपिंग आर्केड के पूर्वज, इन्हें XVIIIवी. सदी में राजधानी के बुर्ज्वाझी शॉपिंग केन्द्र को सुविधा देने के लिए बनाया गया था। इनका प्रयोग फ़ियाकर्स या किराये की बग्घियों के इंतज़ार करने के लिए किया जाता था जिसकी वजह से यहाँ पर कई घड़ियाँ लगी हैं।
यदि आपको पुरानी चीज़ें, पुराने ढंग की चाय की दुकाने पसंद हैं या आप शौक के तौर पर चीज़ों को इकट्ठा करना पसंद करते हैं तो पैरिस की यह वीथिकाएं आपके लिए बनी हैं। यहाँ पर आपको शुद्धतावादी मिलेंगें, क्योंकि यह वो लोग हैं जो इन वीथिकाओं में अपनी दुकाने खोले हुए हैं क्योंकि उन्हें अपने काम से प्यार है और यह बात सबसे कट्टर सौन्दर्योपासक को भी प्रसन्न करेगी।
विरोधाभास यह है कि हालांकि पैरिस की यह वीथिकाएं एक और युग की हैं, यह तब भी “आज के ज़माने” की लगती हैं क्योंकि फैशन रचनाकार आमतौर पर अपने पहले शोरूम इन्हीं वीथिकाओं में खोलते हैं। यह वीथिकाएं मनोहर या फिर आलीशान भी हो सकती हैं... ये भूले हुए युग की प्रतिबिंब हैं और इन वीथिकाओं में आपको हमेशा पुराने ज़माने की खुशबू आती रहेगी।
सबसे सजीली वीथिकाओं में, स्पष्टरूप से गैलरी विवएन हैं जिसके तीन प्रवेशद्वार हैं, एक रिउ विविएन पर, एक रिउ डे पेटिट साम्प पर और तीसरा रिउ द ला बांक पर। 1986 में जॉन पॉल गोतियेर के आने से यह वीथिका पैरिस की फ़ैशन हॉटस्पॉट के रूप में स्थापित हो गई है। पर एक महान महिला की तरह, गैलरी विविएन आज भी बहुत सजीली और शांत है।
उसके बहुत पास कोलबेर वीथिका है जो गैलरी विविएन की प्रतिस्पर्धी है। यह उतनी व्यापार-उन्मुख तो नहीं है पर बहुत ही भव्य है जिसे बिब्लियोथिक नेशनाले द फ्रांस ने खरीद लिया है और इसमें कई संस्कृति और कला संबंधी प्रतिष्ठान हैं। वीथिका के अंत में आपको गॉ कोलबेर दिखेगा जो पैरिस की एक ठेठ बार है जहाँ पर भोजन जरूर करना चाहिए।
तिरछी काली और सफेद टाइलों वाली वेहो-दूता वीथिका गहराई की गलतफहमी देती है और इसे देखने जरूर जाना चाहिए। इसका एक प्रवेश-द्वार 19, रिउ जौं-जाक रूसो पर स्थित है। 1997 में पूरी तरह से इसका पुनः निर्माण किया गया और यह पैरिस के पासार्ज़ कूवैर में सबसे दिलकश है।
अंत में सबसे पुरानी वीथिका पेनोरामा है जो ग्रॉ बुलुवार और गॉंश बातेलियेर को जोड़ती है। इसे प्राकृतिक प्रकाश का फायदा है क्योंकि इसकी काँच की बनी छत से धूप अंदर आती है और डाक टिकट संग्रहकर्ताओं का पसंदीदा स्थान है।
अन्य वीथिकाएं जैसे कि वेर्दो, ग्रॉ सेर्, ल मोलेर, ल वॉन्दोम आदि का अपना व्यक्तित्व, अपनी मनोहरता और अपने ग्राहक हैं।
पैरिस की यह वीथिकाएं, यह इमारतों के बीच छोटी गलियाँ, स्पष्ट रूप से आज भी अपनी रहस्यमयी मनोहरता बरकरार रखे हैं .... हालांकि कोई नहीं कह सकता कि यह कहाँ से शुरू होती हैं और कहाँ पर अंत होती हैं.... इसका पता तो आपको खुद करना होगा!

संबंधित प्रमुख शब्द:पासार्ज़ कूवैर, सीन, ग्रॉ बुलबार, शॉपिंग आर्केड, बुर्ज्वाझी, शॉपिंग, विविएन, ग्रॉ कोलबेर, बिब्लियोथिक, पैरिस, ल वॉन्दोम, गॉंश बातेलियेर, पैरिस निवासी

सामाजिक नेटवर्क पर इमेज:
 
 
 
 
   

 

हमसे सम्पर्क करें 
 Asia21.tv (एशिया21.टीवी) www.asia21.tv पर दिखाए जाने वाले सभी विज्ञापनों और विडिओ की सामग्री के लिए कोई जिम्मेदारी नहीं लेता।